देश

Weather Update: उत्तर-पश्चिम भारत में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना, मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया

Story Highlights
  • बिहार, झारखंड में गरज के साथ बारिश का अनुमान
  • पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा में 4 फरवरी को ओलावृष्टि की संभावना
  • पंजाब, हरियाणा में शीत लहर जैसी स्थिति रहेगी

Weather Update: पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश सहित उत्तर-पश्चिम भारत में आज से लेकर 4 फरवरी के दौरान हल्की से मध्यम बारिश होगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने इस संबंध में अलर्ट जारी किया है।  आईएमडी ने कहा कि 2 फरवरी को पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में छिटपुट हल्की वर्षा होने की संभावना है, 3 और 4 फरवरी को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में हल्की/मध्यम वर्षा होने की संभावना है। बारिश की तीव्रता 3 फरवरी को अधिक रहेगी।

ओलावृष्टि की संभावना 

आईएमडी ने यह भी कहा कि 2-3 फरवरी को हिमाचल प्रदेश में और 3-4 फरवरी को उत्तराखंड के अलग-अलग क्षेत्र में ओलावृष्टि की संभावना है। एक ताजा सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और इससे प्रेरित चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव के कारण बारिश होने की संभावना है। आईएमडी के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ से जुड़े निचले स्तर की पश्चिमी हवाओं और निचले क्षोभमंडल के स्तर पर बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर की दक्षिण-पूर्वी हवाओं के बीच संगम के कारण बिहार, झारखंड में गरज के साथ मध्यम वर्षा होने की संभावना है। 3-4 फरवरी को पश्चिम बंगाल, सिक्किम और ओडिशा में 4 फरवरी को अलग-अलग क्षेत्र में ओलावृष्टि की संभावना है।

पंजाब, हरियाणा में शीत लहर 

आईएमडी ने कहा कि अगले 2 दिनों के दौरान उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की क्रमिक वृद्धि और उसके बाद 3-5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट की संभावना है। बयान में कहा गया है, “उत्तरी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में दिन काफी सर्द रहेंगे। अगले 48 घंटों में पंजाब, हरियाणा में शीत लहर जैसी स्थिति रहेगी और उसके बाद ठंड में कमी आने की संभावना है।” राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 20.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘बेहद खराब’ 

इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी के निवासी प्रदूषित हवा में सांस लेने को विवश रहे, क्योंकि दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) पीएम10 के लिए 280 और पीएम 2.5 के लिए 176 था। चूंकि पीएम10 उच्च स्तर पर था, इसलिए सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने एक स्वास्थ्य सलाह जारी की है, जिसमें कहा गया है कि संवेदनशील लोगों को लंबे समय तक या भारी परिश्रम और भारी बाहरी काम कम करने पर विचार करना चाहिए। कहा गया है, “आम जनता के लिए वायु की गुणवत्ता स्वीकार्य है लेकिन संवेदनशील लोगों के लिए मध्यम स्वास्थ्य चिंता का विषय है।”पीएम 2.5 का स्तर ‘बेहद खराब’ श्रेणी में था।

इनपुट-आईएएनएनस

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button