अपना उत्तर प्रदेशजॉब्स

UP Police Salary: यूपी पुलिस में सब इंस्‍पेक्‍टर को कितनी मिलती है सैलरी? यहां जानें हर डिटेल

UP Police: उत्तर प्रदेश पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के तौर पर शामिल होने पर एक अच्छी सैलरी मिलती हैं।

देश के सभी प्रदेशों में सुरक्षा का जिम्मा राज्‍य पुलिस के पास होता है। राज्यों की पुलिस के विभिन्न पदों के लिए सैलरी स्ट्रक्चर अलग-अलग हुआ करता है, जो उन्‍हें उस राज्‍य के अनुसार मिलता है। यहां पर हम आपको उत्तर प्रदेश पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के तौर पर शामिल होने वाले लोगों को मिलने वाली सैलरी व उनकी जिम्मेदारियों के बारे में बताने जा रहे हैं। साथ ही इस आर्टिकल के माध्‍यम से आपको यह भी पता चलेगा कि उन्‍हें सैलरी के अलावा अन्य अलाउंसेस के तौर पर कितना पैसा मिलता है और क्‍या सुविधाएं मिलती हैं।

सब इंस्‍पेक्‍टर बनने पर क्या होगी जॉब प्रोफाइल व जिम्‍मेदारियां (UP Police SI Job Profile)

उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में एक पुलिस सब इंस्‍पेक्‍टर का पद काफी महत्वपूर्ण होता है। एक एसआई अपने पुलिस थाने का पूरा प्रभार संभालता है और अपने इलाके में कानून-व्यवस्था बनाए रखने का काम करता है। इसकी जिम्मेदारियां इस प्रकार हैं।

अनुशासन बनाए रखना: एक एसआई की जिम्मेदारी है कि वो अपने क्षेत्र में अनुशासन, कानून-व्यवस्था बनाकर रखे और अपराध मुक्त समाज बनाने की दिशा में काम करे।

सुरक्षा सुनिश्चित करना: सब-इंस्पेक्टर का मुख्य कर्तव्य है कि उसके क्षेत्र के सभी नागरिक सुरक्षित रहे, वह उन्‍हें पूरी तरह से सुरक्षा प्रदान करता है।

केस की जांच कर उसे सुलझाना: सब-इंस्पेक्टर के पास उसके और उसके अधीनस्थों को सौंपे गए सभी मामलों को हल करने और लोगों को न्याय दिलाने की जिम्मेदारी होती है। वह घटना की जांच कर उन्‍हें सुलझाता है।

अपने वरिष्ठों को रिपोर्ट पेश करना: एसआई को सभी रिकॉर्ड लिखित प्रारूप में अपने उच्च अधिकारियों को प्रस्तुत करने होते हैं। वह जो भी जांच करता है, उसकी रिपोर्ट बनानी पड़ती है।

अपने इलाके की गश्ती करना: सब इंस्‍पेक्‍टर अपने इलाके का गश्त करता है और उसके इलाके के लोग सुरक्षित महसूस करते हैं या नहीं, इसका पता लगाता है। साथ ही किसी भी सूचना पर वह तत्काल घटना स्‍थल पर पहुंचता है। साथ ही आरोपियों पर कानूनी कार्रवाई करता है।

यूपी पुलिस SI सैलरी (UP Police SI Salary)

यूपी पुलिस सब इंस्पेक्टर का मूल वेतन 9300/- से 34800/- रुपये के बीच होता है। वहीं यह अन्‍य भत्‍तों व विशेषताओं के साथ 27900/- से 104400/- रुपये के बीच होता है। एक एसआई का यह वेतन 7वें वेतन आयोग के अनुसार है।

यूपी पुलिस एसआई वेतन राशि (रुपये में)

मूल वेतन 35,400

महंगाई भत्ता (डी ए)(@ 17%) 6,018

मकान किराया भत्ता (एचआरए) (@ 24%) 8,496

यात्रा भत्ता (3600 + डी ए) 4,212

शहर प्रतिपूरक भत्ता (सीसीए) 360

राशन धन भत्ता (आरएमए) (@97.85 प्रति दिन) 2,936

सकल वेतन 57,422

कटौती (बीपी + डीए का 10%) + बीमा 4200

यूपी एसआई का इन-हैंड वेतन 53,222

नोट-

– महंगाई भत्ते की गणना मूल वेतन के अनुसार की जाती है। डीए मूल वेतन का 12 फीसदी है।

– एचआरए हाउस रेंट अलाउंस है जो मूल वेतन का 24 फीसदी है।

– इस कटौती में विभिन्न कर कटौती, पीएफ आदि शामिल है।

– सब इंस्‍पेक्‍टर को पोशाक भत्‍ता, एक माह का अतिरिक्त वेतन, दिवाली बोनस व मेडिकल सुविधाएं भी मिलती हैं।

– अधिसूचना की घोषणा के बाद यूपी पुलिस एसआई की यह वेतन संरचना भिन्न हो सकती है। साथ ही व्यक्तिगत निवेश और बचत जैसे अन्‍य कारण भी इस पर असर डाल सकते हैं।

सब इंस्पेक्टर को मिलने वाला करियर ग्रोथ

यूपी पुलिस में एसआई के रूप में शामिल होने के बाद, धीरे-धीरे उन्हें कुछ वर्षों की सेवा और नौकरी के प्रदर्शन के बाद पदोन्नत किया जाता है। प्रमोशन के बाद कोई भी नीचे दिए गए इन पदों तक जा सकता है।

– असिस्टेंट इंस्पेक्टर

– इंस्‍पेक्‍टर

– एसीपी (सहायक पुलिस आयुक्त)

– डीसीपी (पुलिस उपायुक्त)

सब इंस्‍पेक्‍टर को मिलने वाली छुट्टियां

यहां पर हम आपको यूपी पुलिस में एसआई को मिलने वाली अर्जित अवकाश, आकस्मिक अवकाश, विशेष अवकाश की जानकारी दे रहे हैं।

अर्जित अवकाश: सब इंस्‍पेक्‍टर 31 दिन की लगातार छुट्टी ले सकता है, वहीं इसमें मिलने वाली 300 दिनों तक का छुट्टी को एकत्रित कर वह इसका कैश भी करा सकता है।

आकस्मिक अवकाश: एसआई 30 दिन (जिसमें 3 दिन या 7 दिन या 10 दिन तक लगातार छुट्टी ले सकता है)

मातृत्व अवकाश (विशेष मामलों में): मातृत्व अवकाश, बिना वेतन छुट्टी।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button