ताज़ातरीन

यूपी: पिछले 24 घंटे में 3 हजार से ज्यादा आए नए मामले, सरकार ने लगाईं कई पाबंदियां

UP Covid-19 Update: देश के तमाम. राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी कोरोना संक्रमण का बढ़ता आकंड़ा डरा रहा है. यहां हर दिनों मामलों में इजाफा हो रहा है. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना के 3 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं जिसके बाद अब यहां सक्रिय मामलों की संख्या 8 हजार का आंकड़ा पार कर गई है.

वहीं राज्य के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों से पता चलता है कि प्रदेश में सक्रिय मामले केवल एक दिन में 37% से ज्यादा बढ़कर 8,224 हो गए हैं. वहीं नए मामले 24 घंटे में उसी दर से दोगुने हो गए हैं. अधिकारियों के मुताबिक अकेले गौतमबुद्धनगर जिले में राज्य के कुल सक्रिय मामलों का पांचवां हिस्सा है.

नोएडा सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित जिला है

आकंड़ों की बात करें तो पिछले 24 घंटे में नोएडा में सबसे ज्यादा 600 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, लखनऊ में 408, मेरठ में 401, गाज़ियाबाद में 382, आगरा में 131, प्रयागराज में 128, वाराणसी में 126, मुरादाबाद में 111 नए मामले सामने आए हैं. वर्तमान में नोएडा में 1,706, गाज़ियाबाद में 1,180 और लखनऊ में 1,153 एक्टिव केस हो गए हैं.

इन जिलों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं

पीछले 24 घंटे में कानपुर में 85 नए मामले सामने आए हैं. वहीं सहारनपुर में 74, मथुरा में 63, गोरखपुर में 57, बरेली में 50, मुजफ्फरनगर में 45, झांसी में 38, बागपत में 33, बुलंदशहर में 31, अलीगढ़ मे 23, अयोध्या में 21, अमरोहा में 20 केस सामने आए हैं. सिर्फ हमीरपुर और महोबा ही दो ऐसे जिले हैं जहां अभी कोरोना का कोई सक्रिय मामला नहीं मिला है.

कोरोना की वजह से यूपी में लगाई गई हैं ये पाबंदियां

कोरोना के मामले बढ़ने के साथ ही सरकार ने एहतियातन कई पाबंदियां भी लगा दी हैं. चलिए यहां जानते हैं यूपी में बेकाबू कोरोना की वजह से क्या-क्या रोक लगाई गई हैं.

    • रेस्टोरेंट, होटल, फूड ज्वाइंट और सिनेमा घर 50% क्षमता से चलाए जाएंगे.
    •  दसवीं कक्षा के सभी स्कूलों को 6 जनवरी से 14 जनवरी तक बंद
    • रात्रि कर्फ्यू के समय को बढ़ा कर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक किया गया
    • सभी धार्मिक स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क बनाया जाएगा और मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य होगा.
    • चिड़ियाघर, क्लब आदि में भी कोविड हेल्प डेस्क बनाया जायेगा और मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य होगा.
    • किसी भी कार्यक्रम, जैसे शादियों में, बंद हॉल में अधिकतम 100 लोगों को अनुमति है, खुले स्थानों पर ग्राउंड की कुल क्षमता का 50 प्रतिशत की सीमा तय की गई है.
    • प्रयागराज माघ मेले में आने वाले भक्तों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य है, जो 24 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button