देश

मणिपुर आतंकी हमला: राहुल गांधी बोले- मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ है

Rahul Gandhi on Manipur Terror Attack: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हुए हमले को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

Rahul Gandhi on Manipur Terror Attack: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हुए हमले को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने मोदी सरकार के राष्ट्र की सुरक्षा को लेकर तीखा हमला किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि ‘मणिपुर में सेना के क़ाफ़िले पर हुए आतंकी हमले से एक बार फिर साबित होता है कि मोदी सरकार राष्ट्र की सुरक्षा करने में असमर्थ है। शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि व उनके परिवारजनों को शोक संवेदनाएँ। देश आपके बलिदान को याद रखेगा।’

साथ ही कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमले को लेकर दुख व्यक्त किया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि ‘मणिपुर में सेना के काफिले पर आतंकी हमले का दुखद समाचार मिला। शहीद सैनिकों को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि एवं उनके परिवारजनों के प्रति शोक संवेदनाएं। देश शहीदों के बलिदान को हमेशा याद रखेगा। आतंकियों की इस कायराना हरकत के खिलाफ पूरा देश एकजुट है। जय हिंद।’

Rahul Gandhi on Manipur Terror Attack: मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमले में कर्नल, उनकी पत्नी, बेटा समेत 7 लोगों की मौत

मणिपुर में ताजा उग्रवादी हिंसा में शनिवार सुबह हुए हमले में असम राइफल्स की खुगा बटालियन के कमांडिंग अफसर (सीओ) कर्नल विप्लव त्रिपाठी, उनकी पत्नी और आठ साल के बेटे की मौत हो गई। इस हमले में असम राइफल्स के चार कर्मियों की भी मौत हो गई। अधिकारियों ने बताया कि चुराचांदपुर जिले के सेहकन गांव में त्रिपाठी के काफिले को निशाना बनाया गया। कर्नल विप्लव त्रिपाठी 46वीं असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर(सीओ) थे। अलग ‘होमलैंड’ की मांग करने वाले मणिपुर के उग्रवादी संगठन ‘पीपुल्स रेवोल्यूशनरी पार्टी ऑफ कंगलीपक’ (पीआरईपीएके) को इस हमले का जिम्मेदार माना जा रहा है। इस हमले में ‘आईईडी’ विस्फोटकों का इस्तेमाल किया गया।

असम राइफल्स ने जारी की प्रेस विज्ञप्ति

असम राइफल्स की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, “उग्रवादियों (संदिग्ध पीआरईपीएके/पीएलए) के हमले में कमांडिंग अफसर और त्वरित प्रतिक्रिया दल (क्यूआरटी) के तीन कर्मियों की मौके पर ही जान चली गई। कमांडिंग अफसर के परिवार (पत्नी और छह वर्षीय बेटे) की भी मौत हो गई। अन्य घायल कर्मियों को बहियंगा स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है।” बता दें कि, कर्नल त्रिपाठी ने पहले मिजोरम में सेवा दी थी और जुलाई 2021 में मणिपुर में उनका स्थानांतरण हो गया था। असम राइफल्स की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इस हमले के पीछे पीआरईपीएके समूह के होने का शक है क्योंकि 12/13 नवंबर को इस संगठन का स्मरण दिवस है।

देश को इंतजार, दिवंगत आत्माओं को मिले न्याय- ममता बनर्जी

मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हुए बर्बर हमले की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी निंदा की है। ममता बनर्जी ने अपने संवेदना संदेश में कहा है कि हमने 5 बहादुर जवानों को खो दिया है, इसमें कमांडिंग ऑफिसर और उनके परिवार के सदस्य शामिल हैं, यह बेहद दुखद है। दिवंगत लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं। पूरे देश को इस बात का इंतजार है कि इन दिवंगत आत्माओं को न्याय मिले।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button