कोरोनाताज़ातरीनदेश

PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कोरोना पर अलर्ट रहने को कहा, पेट्रोल-डीजल का मुद्दा भी उठाया

PM Modi review meeting with State CMs: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कोरोना महामारी को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. ये बैठक उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की. इस बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि बीते दो सालों में कोरोना को लेकर ये हमारी 24वीं बैठक है. कोरोना काल में जिस तरह से केंद्र और राज्य सरकारों ने मिलकर काम किया है उसने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा कि अभी ये स्पष्ट है कि कोरोना की चुनौती पूरी तरह से टली नहीं है. कोरोना के नए वेरिएंट किस तरह से फैल रहे हैं ये हम यूरोप के देशों में देख रहे हैं.

अलर्ट रहने की है जरूरत

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि हमने अपने देश में कोरोना के हालात को बेहतर रखा है इसके बाद भी जिस तरह के कुछ राज्यों में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. इससे हमें अलर्ट रहने की जरूरत है. जिस तरह से कुछ महीनों पहले कोरोना की लहर आई है हमने बहुत कुछ सीखा है. 2 साल के अंदर कोरोना से जुड़े हर पक्ष में मजबूती देने काम काम किया है. तीसरी लहर में कही भी हालात बिगड़ने की ख़बर नहीं आई.

बच्चों का टीकाकरण हमारी प्राथमिकता

पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि लंबे समय बाद स्कूल खुले हैं और कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं. बच्चों में कोरोना के मामले आ रहे हैं. लेकिन अब बच्चों को भी वैक्सीन मिल रही है सभी बच्चों को टीका हमारी प्राथमिकता है. जिसके लिए हमें स्कूल में ड्राइव भी चलानी होगी. टीचर और परिजनों को भी इसके लिए तैयार रहना होगा. तीसरी लहर में कोरोना के बढ़ते मामले देखे हैं. उसके बाद भी हमने काम के साथ कोरोना को कंट्रोल किया था.

इनफेक्शन को पहले ही रोकना हमारी प्राथमिकता

पीएम मोदी ने कहा कि हमें सार्वजनिक स्थानों पर कोविड के नियमों का पालन करना है ये भी ध्यान रखना है पैनिक न फैले. अगर कोई गैप है तो उसका पता किया जाए उसको भरा जाए. कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ते भी रहेंगे और राश्ते भी निकालते रहेंगे. भारत ने कोरोना के खिलाफ ये लंबी लड़ाई लड़ी है. केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर मुकाबला किया है आगे भी करना ही होगा

पेट्रोल और डीजल की कीमत का मुद्दा

इस बैठक में पीएम ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों का बोझ लोगों पर कम हो इसके लिए केंद्र ने टैक्स कम किया था. केंद्र ने राज्यों से आग्रह किया था कि टैक्स कम कर दिया जाए. कुछ राज्यों ने तो टैक्स कम कर दिया लेकिन कुछ राज्यों ने अपने लोगों को राहत नहीं दी. इस वजह से इन राज्यों में आज भी दाम ज्यादा है. उन्होंने कहा कि जो राज्य टैक्स से पैसा काटते हैं उनको नुकसान तो होता ही है ऐसे राज्यों ने अपने लोगों की भलाई के लिए टैक्स में कमी की. गुजरात और कर्नाटक के पड़ोसी राज्यों ने टैक्स में कमी नही करके ज्यादा पैसा कमा लिया.उन्होंने कहा कि वो किसी की आलोचना नहीं कर रहे बल्कि आपके राज्यों के नागरिकों की भलाई के लिए अपील कर रहा हूं. अभी भी अपील करता हूं ये राज्य टैक्स कम करके अपने नागरिकों को राहत दें.

यह भी पढ़ें

Back to top button