ताज़ातरीनबिज़नेस

Pm Jan Dhan Yojana: जनधन खातों को लेकर सरकार ने दी बड़ी जानकारी, आपने भी खुलवाया है अकाउंट तो जान लें…

Pm Jan Dhan Yojana: केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से जनधन खाते (JanDhan Account) की सुविधा ग्राहकों की दी जाती है...

Pm Jan Dhan Yojana: केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से जनधन खाते (JanDhan Account) की सुविधा ग्राहकों की दी जाती है. इस बैंक खाते में सरकार की ओर से कई खास सुविधाएं दी जाती है. अगर आपने भी यह खाता खुलवा रखा है या फिर ओपन कराने का प्लान बना रहे हैं तो वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने इन अकाउंट के बारे में एक जरूरी जानकारी दी है. आइए जानिए क्या है खास-

1.5 लाख करोड़ के पार पहुंची खातों की जमाराशि
जन धन योजना के तहत खोले गए बैंक खातों में जमा राशि का आंकड़ा 1.5 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया है. सरकार ने यह योजना साढ़े सात साल पहले शुरू की थी. वित्त मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) के तहत खातों की संख्या 44.23 करोड़ पर पहुंच चुकी है. इन खातों में जमा राशि का 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गई है.

2014 में शुरू हुई थी योजना
वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने वाली इस योजना ने पिछले साल अगस्त में क्रियान्वयन के सात साल पूरे किए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में जनधन योजना शुरू करने की घोषणा की थी.

जानें किन बैंकों में है कितने खाते
वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, कुल 44.23 करोड़ जनधन खातों में से 34.9 करोड़ खाते सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में और 8.05 करोड़ खाते क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में हैं. इसके अलावा शेष 1.28 करोड़ खाते प्राइवेट सेक्टर के बैंक में ओपन कराएं गए हैं.

जारी किया जाता है रुपे कार्ड
इसके अलावा पीएमजेडीवाई के 31.28 करोड़ लाभार्थियों को रुपे कार्ड जारी किया गया है. यहां उल्लेखनीय है कि समय के साथ रुपे कार्ड की संख्या और इसका इस्तेमाल बढ़ा है. इस योजना के पहले साल में 17.90 करोड़ खाते खोले गए थे. किसी खाताधारक द्वारा किए गए लेनदेन के आधार पर जन धन खातों में शेष या बैलेंस रोजाना के आधार पर बदल सकता है. किसी दिन खाते में ‘बैलेंस’ शून्य पर भी आ सकता है.

24.61 करोड़ महिलाओं के हैं खाते
सरकार ने पिछले महीने संसद को सूचित किया था कि आठ दिसंबर, 2021 तक जनधन खातों में शून्य शेष या बैलेंस वाले खातों की संख्या 3.65 करोड़ थी. यह कुल जन धन खातों का 8.3 फीसदी है. आंकड़ों के मुताबिक, 29.54 करोड़ जनधन खाते ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी बैंक शाखाओं में हैं. 29 दिसंबर, 2021 तक कुल जन धन खाताधारकों में से 24.61 करोड़ महिलाएं थीं.

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button