अपना उत्तर प्रदेशदेश

Jewar International Airport: आज तैयारियों का जायजा लेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ, 25 नवंबर को PM करेंगे शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गौतमबुद्धनगर में बनने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport) के शिलान्यास की तैयारियों का जायजा...

जेवर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गौतमबुद्धनगर में बनने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport) के शिलान्यास की तैयारियों का जायजा लेने के लिए आज जेवर पहुंचने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 नवंबर को एयरपोर्ट का शिलान्यास करने वाले हैं। उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और ये एयरपोर्ट योगी सरकार की एक प्रमुख परियोजना है।

आपको बता दें कि राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार एयरपोर्ट के निर्माण में जोर-शोर से जुटी है और पहले फेज के लिए जमीन अधिग्रहण का काम पूरा हो चुका है। ये एयरपोर्ट देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा जिसका क्षेत्रफल 6200 हेक्टयर होगा। एक अक्टूबर 2021 से 1095 दिन के अंदर नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पहली उड़ान भरी जाएगी। 2024 में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की पहली हवाई पट्टी तैयार हो जाएगी। एयरपोर्ट पर पहले दो हवाई पट्टी तैयार होंगी उसके बाद 5 हवाई पट्टियां इंटरनेशनल एयरपोर्ट में होंगी।

Jewar International Airport: जेवर एयरपोर्ट होगा यूपी का 5वां इंटरनेशनल एयरपोर्ट

उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को दावा किया कि राज्य में अब पांचवा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनने जा रहा है। लखनऊ में जारी एक बयान में राज्य सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि 25 नवंबर को निर्धारित नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शिलान्यास के साथ, राज्य अब पांच अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे बनाने की राह पर है।

राज्य में 2012 तक केवल दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थे, जब लखनऊ के बाद वाराणसी को यह गौरव प्राप्त हुआ था। 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन के बाद कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शुरू हुआ जबकि अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का काम प्रगति पर है जहां हवाई सेवाएं अगले साल की शुरुआत में शुरू होने की उम्मीद है।

बयान के मुताबिक, वर्तमान में उत्तर प्रदेश में आठ परिचालन हवाई अड्डे हैं, जबकि 13 हवाई अड्डे और सात हवाई पट्टी विकसित की जा रही हैं। प्रदेश में वाणिज्यिक उड़ानों को संभालने वाले हवाई अड्डे लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर, गोरखपुर, आगरा, कानपुर, प्रयागराज और हिंडन (गाजियाबाद) हैं। नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। इस हवाई अड्डे के पहले चरण में सालाना 1.2 करोड़ यात्रियों की सेवा करने की क्षमता होगी और इसे 36 महीनों में पूरा किया जाना है।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button