देश

ताजमहल में भगवा और धर्म दंड के प्रवेश से रोकने पर जगत गुरु परमहंस आचार्य ने दी धमकी, कहा- ताजमहल के गेट पर ही शरीर त्याग दूंगा

Story Highlights
  • जगत गुरु परमहंस आचार्य को ताजमहल प्रवेश से रोका
  • रोकने पर जगत गुरु परमहंस आचार्य ने दी धमकी
  • ताजमहल के गेट पर ही शरीर त्याग दूंगा: आचार्य

आगरा: अयोध्या में तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर जगतगुरु परमहंस आचार्य कल आगरा में ताजमहल का दीदार करने पहुंचे थे जहां पर ताजमहल की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों के द्वारा उनको रोक दिया गया और तर्क दिया गया कि भगवा रंग का वस्त्र और धर्म दंड लेकर के अंदर नहीं जा सकते। जिसके बाद जगत गुरु परमहंस आचार्य ने आपत्ति जताई। जगत गुरु परमहंस आचार्य बिना ताजमहल का दीदार किये अयोध्या लौट आए जिसके बाद उनका वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें उनको ताजमहल के अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है जगतगुरु परमहंस आचार्य ने ताजमहल प्रशासन पर धर्म विशेष के लोगों के इशारे पर रोके जाने का आरोप लगाया है।

वहीं इस मामले को बढ़ता देख पुरातत्व विभाग के चीफ आर. के. पटेल ने जगतगुरु परमहंस आचार्य से क्षमा मांगते हुए दोबारा से ताजमहल आने का निमंत्रण दिया है, हालांकि धर्म दंड को लेकर अभी संशय बरकरार है। उन्होंने कहा कि यदि धर्म दंड लोहे का नहीं है तो वह धर्म दंड लेकर के ताजमहल में प्रवेश कर सकते हैं। उसके पहले उच्चाधिकारियों से समझने की बात कही है।

सनातन धर्म का अपमान है: परमहंस आचार्य

अयोध्या पहुंचे तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर जगद्गुरु परमहंस आचार्य ने ताजमहल में भगवा और धर्म दंड को प्रवेश रोके जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यह भगवा का अपमान है। सनातन धर्म का अपमान है। उन्होंने बताया कि, ‘हम लोग वहां पहुंचकर ताजमहल के दीदार के लिए टिकट लिया और जब मुख्य द्वार पर पहुंचे तो उनको केवल इस वजह से वहां तैनात सुरक्षाकर्मी ने रोक दिया क्योंकि वह भगवा वस्त्र धारण किए हुए थे और धर्म दंड लिए हुए थे। इस घटना का जब उनके साथ मौजूद उनके अनुयाई ने वीडियो बनाया और फोटो ली तो वहां मौजूद सुरक्षा बलों ने जबरदस्ती मोबाइल से फोटो डिलीट की और अभद्रता भी की।’

धर्म दंड के प्रवेश को लेकर स्थिति साफ नहीं

आचार्य ने दुख व्यक्त करते हुए कहां है कि, ‘इस तरीके का अपमान बहुत ही निंदनीय है। इस विषय को लेकर आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के लिए अयोध्या से लखनऊ रवाना होने वाले थे, पर पुरातत्व विभाग के चीफ आर. के. पटेल के द्वारा यह कहके माफी मांगी गयी थी जो हुआ उसके लिए वह शर्मसार हैं साथ ही आर. के. पटेल ने जगत गुरु परमहंस आचार्य को ताजमहल देखने के लिए आगरा आमंत्रित किया है। हालांकि परमहंस आचार्य ने दावा किया है पुरातत्व विभाग के चीफ ने धर्म दंड के प्रवेश को लेकर उच्चाधिकारियों से वार्ता करने की बात कही है।

ताजमहल के गेट प्राण त्यागने की धमकी

अब जगतगुरु परमहंस आचार्य ने 5 मई को अपने सनातन धर्मावलंबी, शिष्यों और अनुयायियों से अपील की है कि 5 मई को 11:00 बजे सभी लोग ताजमहल के गेट पर पहुंचे, जहां से उन्हें ताजमहल के दर्शन के लिए भगवा वस्त्र और धर्म दंड धारण किए हुए जाने दिया जाएगा और अगर ऐसा नहीं होता है तो जगत गुरु परमहंस आचार्य ने धमकी दी है कि ताजमहल के गेट पर ही अन्न जल त्याग करके आमरण अनशन करेंगे जब तक उनके प्राण रहेंगे।

यह भी पढ़ें

Back to top button