देश

Sulli Deals App: दिल्ली, मुंबई, इंदौर, बेंगलुरु, उत्तराखंड से जुड़े तार, अब तक के बड़े अपडेट्स

बुल्ली बाई ऐप (Bulli Bai App) केस में अब एक के बाद एक कड़ियां जुड़ने लगी हैं। बुल्ली बाई ऐप के बाद सुल्ली डील्स (Sulli Deals App) ऐप मामले...

नई दिल्ली: बुल्ली बाई ऐप (Bulli Bai App) केस में अब एक के बाद एक कड़ियां जुड़ने लगी हैं। बुल्ली बाई ऐप के बाद सुल्ली डील्स (Sulli Deals App) ऐप मामले में पहली गिरफ्तारी हुई है। दिल्ली पुलिस ने इंदौर से आरोपी को गिरफ्तार किया है जो सुल्ली डील्स ऐप का मेन क्रिएटर है। बुली बाई ऐप और सुल्ली डील्स ऐप में अब तक पुलिस की जांच कई राज्यों तक पहुंच गई है।

सुल्ली डील्स ऐप मामले में पहली गिरफ्तारी
दिल्ली पुलिस ने सुल्ली डील्स ऐप बनाने के आरोप में एक व्यक्ति को मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि यह सुल्ली डील्स ऐप मामले में पहली गिरफ्तारी है। पुलिस के अनुसार, पकड़े गए ओंकारेश्‍वर ठाकुर ने ही सुल्‍ली डील्‍स नाम से ऐप तैयार की थी। सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को बिना उनकी मंजूरी के इस मोबाइल ऐप्लीकेशन (ऐप) पर नीलामी के लिए डाला गया था।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि उसने गिटहब पर कोड डेवलप किया। गिटहब तक समूह के सभी सदस्यों की पहुंच थी। उसने अपने ट्विटर अकाउंट पर ऐप को साझा किया था। मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को समूह के सदस्यों ने अपलोड किया था। जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपी एट द रेट गैंगेसियन हैंडल का उपयोग करके जनवरी 2020 में ट्रेडमहासभा के नाम से ट्विटर पर ग्रुप में शामिल हुआ था।

बुल्ली बाई और सुल्ली डील्स (Sulli Deals App)का कनेक्शन क्या

बुल्ली बाई मोबाइल ऐप्लिकेशन के मामले में दिल्ली पुलिस ने एक महिला पत्रकार की तस्वीर में छेड़छाड़ कर उसे वेबसाइट पर अपलोड करने के आरोप में एक जनवरी को अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि असम से गिरफ्तार किया गया नीरज बिश्नोई बुल्ली बाई ऐप का कथित सरगना है और उसने इसे बनाया है। बिश्नोई ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि वह ट्विटर हैंडल सुल्ली डील्स का इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति से भी संपर्क में था, जिसने सुल्ली डील्स ऐप को बनाया था।

बुल्ली बाई ऐप में मुंबई पुलिस का बयान और उत्तराखंड कनेक्शन
मुंबई पुलिस बुल्ली बाई ऐप मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस की ओर से पिछले दिनों यह बताया गया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में से दो उत्तराखंड के हैं और मामले में कुछ और लोगों के शामिल होने की आशंका हैं। बुल्‍ली बाई’ ऐप मामले (Bulli Bai App Case) में मुंबई पुलिस ने उत्‍तराखंड से 18 साल की श्वेता सिंह को गिरफ्तार किया है। इसके पहले इस मामले में एक अन्‍य आरोपी विशाल कुमार झा को गिरफ्तार किया गया था। श्‍वेता सिंह को केस में मुख्‍य आरोपी बताया जा रहा है। वह विशाल झा के संपर्क में थी। श्‍वेता ने ही ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्‍वीरें अपलोड की थी।

बेंगलुरु से पकड़ा गया इंजीनियरिंग का छात्र
मुंबई साइबर पुलिस ने इस मामले में बेंगलुरु से इंजीनियरिंग के 21 वर्षीय एक छात्र को भी गिरफ्तार किया जिसकी पहचान विशाल कुमार के रूप में की गई है। पुलिस का दावा है कि दोनों आरोपी एक दूसरे को जानते हैं और इस मामले में आगे की जांच जारी है। मुंबई साइबर पुलिस थाने ने ऐप के डेवलपर और उसका प्रचार-प्रसार करने वाले ट्विटर हैंडल के विरुद्ध भी एक मामला दर्ज किया है।

बुल्ली से पहले सुल्ली ऐप का हुआ इस्तेमाल
पूरा मामला बुल्ली बाई ऐप नीलामी के लिए बिना इजाजत सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं के छेड़छाड़ किये हुए चित्र और विवरण डालने का है। इसको लेकर दिल्ली और मुंबई पुलिस की ओर से जांच जारी है। वहीं एक साल से भी कम समय में ऐसा दूसरी बार हुआ है। पिछले साल सुल्ली डील्स नामक ऐप पर इसी प्रकार की सामग्री डाली गई थी। इस मामले में अब जाकर पहली गिरफ्तारी हुई है।

bulli bai app creator arrest led to sulli deal

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button