देश

प्रदूषण के चलते दिल्ली में स्कूल बंद करने का ऐलान, लॉकडाउन पर CM केजरीवाल ने कही ये बात

प्रदूषण के कारण दिल्ली-एनसीआर के लोगों का हाल बेहाल है. आसमान में धुंध की चादर छाई हुई है. लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. ऐसे में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कुछ जरूरी कदम उठाए हैं.

Story Highlights
  • सीएम केजरीवाल ने प्रदूषण के बीच उठाए कुछ जरूरी कदम
  • सोमवार से दिल्ली में सभी स्कूल और सरकारी ऑफिस बंद
  • वर्क फ्रॉम होम और ऑनलाइन माध्यम से जारी रहेंगे सभी काम

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर गंभीरता जताते हुए दिल्ली सरकार ने कुछ अहम कदम उठाए हैं. शनिवार शाम को एक बैठक के बाद सीएम केजरीवाल ने कई बड़े ऐलान किए. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में प्रदूषण काफी बढ़ा है. पहले दिल्ली की हवा साफ थी लेकिन दिवाली के बाद प्रदूषण में लगातार बढ़ोतरी देखी गई है. साथ ही पराली के सवाल पर सीएम ने कहा कि यह समय उंगली उठाने का नहीं है, हमारा मकसद है कि इमरजेंसी जैसे हालात से जल्द से जल्द निपटा जाए.

सीएम केजरीवाल ने किए ये बड़े ऐलान

  • दिल्ली में सोमवार से बंद होंगे स्कूल लेकिन ऑनलाइन क्लासेस जारी रहेंगी. 
  • 14-17 नवंबर के बीच सभी कंस्ट्रक्शन साइट्स बंद रहेंगी.
  • कुछ दिनों तक सभी सरकारी ऑफिस बंद रहेंगे लेकिन काम जारी रहेगा. सभी कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे.
  • साथ ही सभी प्राइवेट ऑफिस को लेकर भी एक एडवाइजरी जारी की जाएगी कि वर्क फ्रॉम होम को फिर से लागू किया जाए. 

लॉकडाउन पर विचार कर रही दिल्ली सरकार

सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली में कंप्लीट लॉकडाउन को लेकर एक प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. लॉकडाउन एक बहुत बड़ा कदम है इसे एक झटके में नहीं लिया जा सकता.’

सुप्रीम कोर्ट ने की तल्ख टिप्पणी

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने भी शनिवार को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी को ‘आपात’ स्थिति बताते हुए केंद्र व दिल्ली सरकार से कहा कि वे वायु गुणवत्ता (Air Quality) में सुधार के लिए आपात कदम उठाएं. 

‘कोर्ट ने स्थिति को बताया आपात’

कोर्ट ने कहा था कि हर किसी को किसानों को जिम्मेदार ठहराने की धुन सवार है. क्या आपने देखा कि दिल्ली में पिछले 7 दिनों में कैसे पटाखे जलाए गए हैं? यह आपात स्थिति है, जमीनी स्तर पर कई कदम उठाने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button